Save on all your Printing Needs at 4inkjets.com!

Moral values-A Glance

By: praveen gola

Page 1, This Hindi Poem Moral Values highlights downfall of moral values in youth. Digital media and social network play important role in shaping moral values.


Effect of Digital Media & Social Network: Hindi Poem Moral Values

हो रहा है आज ……..हमारे नैतिक मूल्यों का पतन,
कर रहे हैं छात्र ……….कंप्यूटर शिक्षा पाने का प्रयत्न ।

दे रहे हैं सीख ………हर विद्यालय के अध्यापक ,
कि  ”प्रोजेक्ट” पूरा करो अपना ,”गूगल ” पर से डाउनलोड ले कर ।

अभिभावकों की क्या कहें ,वो खुद बन चुके हैं “mediator “,
अगर अध्यापक की न सुनें ,तो सहना पड़ेगा संतान का “Rude Behaviour”।

लगाकर दिया “Internet” उन्हें ,सोचा कि वो कक्षा में अव्वल रहेंगे ,
बेचारे क्या समझे की वो “प्रोजेक्ट” के बहाने ,”Internet” पर “chatting” करेंगे ।

रात-दिन Facebook ,Twitter  पर, tweets हो रहे ज़ोरों से,
सुबह में आँखें मलते हुए कहा, कि छूट गए अपने सपनो से ।

भाग रहे हैं स्कूल, जल्दी-जल्दी से अपना बस्ता टाँगे ,
न की पूजा ,न दिया आदर बड़ो को ,लगा दिया सब सम्मान ठिकाने ।

क्लासरूम में “smartfone “, है बन गया एक और नया फैशन,
“Internet Surfing” की नसीहतें देने का ,बन गया एक और “Passion “।

सिर्फ T .V ,सिर्फ Mobile ,सिर्फ Internet ,ही है अब “Moral Values” उनके ,
“Moral Science “भी होता था कभी कोई “Subject ” ,ऐसे “Subject” से वो रहे अछूते ।

“Gangrape “,”Group Fighting”,”Fashion Shows ” की News हैं याद रहती ,
क्या करें “Newspapers ” में भी ,इन्ही सब की TRP ‘s दिखती।

“Grading System ” बन गया है ,”Education”  का एक और बवाल ,
Eighth Class तक तो नहीं रहा अब ,Pass -Fail होने का कोई सवाल ।

उसके बाद तो क्या कोई ,”Moral Values” का पाठ पढाएगा ?
इतनी “Moral Values ” घर कर चुकेंगी ,की किसी का बाप भी उन्हें बाहर नहीं निकाल पायेगा ।

“Females ” को बस “Ma’am “कहेंगे ,चाहे हो उम्र में वो कितनी भी बड़ी ,
“Didi”, “Aunty ” कहना भी भूल गए वो ,कैसी नैतिकता उनमे भरी ?

झूठ की दीवार पर वो ,रेत के महल बना रहे हैं ,
क्या पता की उन महलों से ,वो अपने ही शामियानों को जल रहे हैं ।

गर जल्द ही न शुरू हुआ फ़िर से …..”Moral Science” जैसा Subject एक और बार ,
तो “Education System ” दम तोड़ देगा ,इसलिए करो इस पर विचार बार-बार ,हज़ार-बार ।

 

© Copyright 2014praveen gola All rights reserved. praveen gola has granted theNextBigWriter, LLC non-exclusive rights to display this work on Booksie.com.

© 2014 Booksie | All rights reserved.