Welcome Visitor: Login to the siteJoin the site


Tags: Life


Life has different meaning for different people,sometimes it's a long road full of hurdles,sometimes it's an open sky but it teaches new lessons.


Submitted:Dec 21, 2012    Reads: 7    Comments: 0    Likes: 0   


Hindi Poems on Life - Zindgi

bunch-of-flowers

Hindi Poems - Zindgi

1. जिंदगी के मायने

जिंदगी के मायने अनके,
किसी के लिए एक लम्बी सड़क ,
और किसी के लिए ……….
उस सड़क पर लिखा हुआ एक लेख।

जिंदगी के मायने अनके,
किसी के लिए एक बहती नदी ,
और किसी के लिए ……….
उस नदी में पड़ी गीली रेत ।

जिंदगी के मायने अनके,
किसी के लिए एक खुला आसमान ,
और किसी के लिए ……….
उस आसमान में उड़ते पंछियों के संकेत ।

जिंदगी के मायने अनके,
किसी के लिए सिर्फ एक हँसी ,
और किसी के लिए ……….
उस हंसी के पीछे छिपा "Laughing Brake".

जिंदगी के मायने अनके,
किसी के लिए सिर्फ एक अंत ,
और किसी के लिए ……….
उस अंत को पाने का हर संघर्ष " दिलफेंक "।।

2. जिंदगी नाम है ……….

हालातों को हालातों ने,
कुछ इस तरह मिलाया ,
कि जिंदगी जीने का सबब ,
हमें भी हालातों ने सिखाया ।

मायूसी भरी जिंदगी में ,
जब भी अँधेरे में खोने को जी ललचाया ,
एक नयी किरण ने हर बार आकर ,
मुझे मेरी पहचान से रूबरू कराया ।

परिंदा जब भी कभी उड़ता हुआ ,
किसी शाख से टकराया ,
हर बार उस शाख ने उसे,
उड़ने का एक नया सबक सिखाया ।

लड़खड़ाते हुए क़दमों से बहके शराबी ने,
जब भी कोई गीत गुनगुनाया ,
हर बार उसकी आवाज़ ने ,
उसे शराबी होने का एहसास दिलाया ।

जिंदगी नाम है ………
हालातों से लड़ने की एक छाया ,
आयो हँसते हुए ,गुनगुनाते हुए ,
पी जाएँ इसे बनाकर मीठे विष का प्याला ।।

3. जिंदगी मिली है

जिंदगी मिली है हमें ,कुछ करने के लिए ……….
किसी के अधूरे सपनों को पूरा करने के लिए ।

आज़ाद भारत हो गया फिर भी, हो न सके आज़ाद ख्याल ……….
देश में फैली अराजकता से , रोज़ जन्म लेते हैं सैकड़ों सवाल।

गर जल्द ही सोचा न गया ,उन सवालों का "solution "……….
तब फिर से न हो जाए कहीं ,"Technically Gulaam " ये "Constitution "।

अधूरे ख्याल छोड़ गए थे ,"भगत सिंह " जैसे देशभक्त ……..
लेकिन उन्ही ख्यालों को कुचल ,हो गया सारा देश आज भ्रष्ट ।

हम भ्रष्ट नेतायों को, उनकी कुर्सी से हटायेंगे………
जिंदगी के असली मायने ,हर पन्ने पर लिख कर उन्हें समझायेंगे ।

क्योंकि जिंदगी मिली है हमें ,कुछ करने के लिए ………
भारत जैसे देश की गुणवता को ,फिर से हरा -भरा रखने के लिए ।।





0

| Email this story Email this Poetry | Add to reading list



Reviews

About | News | Contact | Your Account | TheNextBigWriter | Self Publishing | Advertise

© 2013 TheNextBigWriter, LLC. All Rights Reserved. Terms under which this service is provided to you. Privacy Policy.